Loading...

24 घंटे से इस पेड़ में लगी हुई है आग, फिर भी नहीं जली एक भी पत्ती, चमत्कार देखने के लिए लगी भीड़

0 62

कौशांबी जिले के कड़ा धाम के हनुमान घाट/श्मशान घाट पर लगे नीम के पेड़ की आग की लपटें बारिश के बाद अब थोड़ी धीमी पड़ गई है. आग से जलकर खोकला हो चुका यह पेड़ बीच से टूटकर गिर भी गया है, बावजूद इसके इस पेड़ से टूटकर गिरी डाल से 24 घंटे बाद भी आग की लपटें निकल रही हैं. क्या हिंदू क्या मुस्लिम जिस किसी ने भी इस पेड़ के बारे में सुना उसके कदम बड़ी तेजी के साथ गंगा किनारे श्मशान घाट की ओर बढ़ गए. पेड़ से निकल रही आग की लपटों को चमत्कार व दैवीय आपदा बता लोगों ने पूजा पाठ करनी भी शुरू कर दी.

आपको बता दें कि कड़ा धाम के गंगा किनारे स्थित हनुमान घाट/श्मशान घाट पर लगे हुए एक नीम के पेड़ में रविवार की सुबह लगी आग दोपहर होते-होते काफी तेज हो गई. सूचना मिल जाने के बाद फायर बिग्रेड की टीम तुरंत मौके पर पहुंची और उस आग को बुझाने की कोशिश करने लगी, लेकिन आग बुझ नहीं पाई. पेड़ से लगातार निकल रही लपटों से पत्तियों को जरा भी नुकसान नहीं हुआ है और इस आग के साथ धुँआ भी नहीं निकल रहा.

वही शाम होते-होते इस रहस्यमई आग की खबर बड़ी तेजी के साथ फैल गई और धीरे-धीरे वहां पर सैकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई. रात में हुई बारिश के बाद लगातार जल रहा यह पेड़ बीच से टूटकर नीचे गिर गया. पेड़ के टूटकर गिर जाने व बारिश से पेड़ से निकल रही आग की लपटें थोड़ी धीमी पड़ गई हैं. वही टूटकर गिरी डाल से अभी भी बरकरार आग की लपटें निकल रही हैं.

Loading...

वहीं सोमवार की सुबह भी सैकड़ों लोगों की भीड़ इस रहस्मयी आपको देखने के लिए घाट के किनारे इकट्ठा रही. क्या हिंदू क्या मुस्लिम हर कोई इस रहस्यमई आपको देखने के लिए श्मशान घाट पहुंच गया. साधु संतों के अलावा तमाम महिलाएं व पुरुष इस पेड़ की पूजा करने लगे. वही इस पेड़ की पूजा करने वाले लोगों का कहना है कि दैवीय आपदा से राहत पाने के लिए ही पेड़ से निकले अग्नि देवता की पूजा कर रहे हैं..

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.