Loading...

पहले गयी नौकरी, फिर गया घर, मदद के लिए दोस्त को किया मैसेज, हो गई एक गलती, और फिर

0 105

वैसे कई बार ऐसा होता है कि इंसान की एक गलती की वजह से उसकी जिंदगी बदल जाती है. जी हां अमेरिका के विस्कॉन्सिन की रहने वाली है एमी रिकल के साथ भी बिल्कुल कुछ ऐसा ही हुआ. 3 बच्चों की मां रिकल की पहले तो नौकरी चली गई. फिर उसके बाद उसके रहने की जगह भी उसे छीन गई. पैसों की काफी ज्यादा तंग हो गई तो उसने सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर एक दोस्त को मदद के लिए मैसेज डाल दिया. लेकिन महिला ने उस मैसेज को गलती से उसी नाम के एक अजनबी शख्स को भेज दिया. हालांकि जब महिला को गलती का एहसास हुआ तो उसने उस अजनबी शख्स से माफ़ी भी मांगी. अजनबी होने के बाद भी उस शख्स ने रिकल की पूरी मदद की और उसकी जिंदगी को बदल दिया.

रिकल अपने तीनों बच्चों के साथ साल 2016 में ग्रीन बे सिटी में शिफ्ट हो गई थी, ताकि उन्हें और उसके बच्चों को पिता के पास रहने का मौका मिले. लेकिन यह शिफ्टिंग रिकल के लिए केवल ही बर्बादी लेकर आई. जगह बदलने के चक्कर में पहले तो रिकल की नौकरी चली गई. इसके बाद उसे अपने बच्चों को पालने की जिम्मेदारी भी अकेली ही लेनी पड़ी. इसी सब के बीच उससे उसका घर भी छिन गया.

रिकल ने फिर अपनी फैमिली के साथ कई दिन होटल में भी गुजारे, लेकिन उसके पास ज्यादा पैसा नहीं बचा था. कार खराब हो जाने की वजह से उसका कहीं पर आना-जाना भी बंद हो गया. ऐसे में रिकल ने अपने एक दोस्त से मदद मांगने के बारे में सोचा, मदद मांगने के लिए महिला ने Facebook पर ब्रायन वैन बॉक्सटेल नाम के अपने एक दोस्त को मैसेज भेज दिया. मैसेज को सेंड करते ही महिला को इस बात का एहसास हुआ कि गलती से उसने ब्रायन नाम के ही किसी अजनबी शख्स को मैसेज भेज दिया है. ऐसे में महिला ने उस शख्स से माफी मांगी.

Loading...

माफी मांगने के बाद भी ब्रायन नाम के उस अजनबी शख्स ने रिकल के द्वारा किए गए मैसेज का जवाब भी दिया. उसने जवाब देते हुए रिकल से कहा कि वह उसकी मदद करना चाहता है. उस शख्स ने रिकल से कहा कि ईश्वर ने हमें इंसान की जिंदगी सिर्फ इसी वजह से ही दी है कि हम एक दूसरे की मदद कर पाएं. ब्रायन ने रिकल से कहा कि वह उसके होटल का बिल भर देगा और रिकल से उसने कहा कि वह गोफंडमी नाम का एक पेज शुरू करें. जिससे उसकी और उसके बच्चों के लिए लोग फंड देकर मदद कर सकें.

कैथी नाम की महिला को गोफंडमी नाम के पेज से ही रिकल की पूरी कहानी के बारे में पता चला. उसने भी रिकल की मदद के तौर पर पहले अपनी मिनीवेन दी, फिर उसे रहने के लिए जगह भी दे दी. रिकल की स्टोरी से इंस्पायर होने के बाद उसकी मदद के लिए चाड मोराक नाम का एक शख्स भी आगे आया. वही जब चाड को यह पता चला कि रिकल एक लाइसेंस्ड नर्स थी तो उसने मेडिकल रिक्रूटमेंट एजेंसी के जरिए रिकल की नौकरी लगवा दी. वही जब मेडिकल एजेंसी की सीनियर रिक्रूटर एलेक्जेंड्रिया ने रिकल का रिज्यूम देखा तो उसकी प्रोफाइल देखकर काफी ज्यादा इंप्रेस हुई और उसने उसे फुल टाइम की पोजीशन दिला दी. उसी महीने से रिकल ने अपनी नौकरी को शुरू कर दिया.

रिकल की एक गलती और इन तीन अजनबियों ने मिलकर रिकल को बुरे वक्त से बाहर निकाल लिया. 9 दिन के अंदर ही रिकल के पास घर, कार और नौकरी सब कुछ वापस आ गया था. रिकल अब उन तीनों अजनबियों को पाकर काफी ज्यादा खुश है और अपने आपको सबसे ज्यादा खुशनसीब मानती है. वहीं रिकल ने बताया कि हम सभी आज भी एक दूसरे के साथ कोंटेक्ट में हैं और हम कई बार साथ में फेस्टिवल सेलिब्रेट भी करते हैं. मौजूदा समय में रिकल करेक्शन इंस्टिट्यूट में लाइसेंस्ड प्रैक्टिकल नर्स है. रिकल की कहानी गोफंडमी पेज के जरिए इस पूरी दुनिया में इसी शेयर हुई. रिकल को करीब 3:30 लाख रूपय की मदद भी मिली.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.