Loading...

जब PM नरेंद्र मोदी ने युगांडा में बैठक को संबोधित करने के दौरान सुनाया चुटकुला

0 34

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों अफ्रीकी देश युगांडा के दौरे पर हैं. वहीं बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-युगांडा बिजनेस फोरम की बैठक को भी संबोधित किया. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोनों देशों के बीच व्यापार को और भी ज्यादा बढ़ाने पर खास बल दिया. उन्होंने इस बैठक में कहा कि भारत युगांडा के विकास के लिए प्रतिबद्ध है, आखिर युगांडा को किस तरह और क्यों भारत के साथ व्यापार संबंधों को बनाना चाहिए. इसी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण के दौरान एक चुटकुला भी सुना दिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‛मैं जब छोटा था तो बहुत चुटकुले सुना करता था…एक गरीब लड़का बस स्टैंड पर पंखा बेच रहा था. वहाँ हिंदुस्तान में काफी गर्मी होती है. एक बेचने वाला आया और वह कहता है 1 रुपए का पंखा मिलेगा, दूसरे वाले ने उसे पंखे की कीमत 8 आने बताई, वही तीसरे ने कहा चार आने में पंखा मिल जाएगा. उसने चार आने वाला वह पंखा ले लिया, लेकिन तीन-चार बार उस पंखे को हिलाने के बाद वह टूट गया, इसके बाद उसने तुरंत पंखे वाले को कहा कि यह तो टूट गया, वहीं पंखे वाले ने जवाब देते हुए उसे कहा कि मैंने पंखा हिलाने को थोड़ी ना कहा था. आपको पंखा नहीं बल्कि मुंडी को हिलाना था.’

वही अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‛युगांडा के राष्ट्रपति उनसे भारत की मशीन मांग रहे हैं. उन्हें हमारे देश की मशीनों पर काफी ज्यादा भरोसा है.’ इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि ‛आपको बाजार में ऐसी मशीन बेचने वाले काफी लोग मिल जाएंगे, लेकिन अगर आप देखेंगे की चीजें महंगी हो तो काफी लंबे समय तक चलती है. सस्ती चीजें खरीदेंगे तो वह महीनों खराब रहेंगी, ऐसा इसलिए क्योंकि उन मशीनों को ठीक करने वाला भी उसी देश से लेकर आना पड़ेगा. मैं आपको यह विश्वास दिलाता हूं कि जीरो डिफेक्ट के साथ हम आपको यह मशीनें देंगे, हम टेक्नोलॉजी देने को तैयार हैं. हां वह शुरू में थोड़ी महंगी जरूर होगी, कोई यह भी जरूर चिल्लाएगा की यह महंगी है यह कैसी सरकार है इससे अच्छा तो पहली वाली सस्ती थी, लेकिन यह आपको तय करना है कि आपको पंखा हिलाना है या फिर मुंडी को हिलाना है.’

Loading...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुताबिक युगांडा के पास करीब हजारों एकड़ ऐसी जमीन मौजूद है, जहां कोई केमिकल की बूंद तक नहीं गिरी है. उस जगह पर पैदा होने वाली चीजों के लिए पूरी दुनिया पागल हो सकती है. वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‛हम यही चाहते हैं कि युगांडा को काफी लाभ मिले और दुनिया भी पूरी तरह से स्वस्थ रहे.’

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.