Loading...

UP के सरकारी स्कूल का नाम बदलकर कर दिया ‛इस्लामिया प्राइमरी स्कूल’, CM योगी ने दिए जांच के आदेश

0 15

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले का एक मामला सामने आया है यहाँ पर एक प्राथमिक स्कूल का नाम बदलकर ‛इस्लामिया प्राथमिक स्कूल’ कर दिया गया. यही नहीं इस स्कूल में छुट्टी के दिन में भी बदलाव कर दिया. इस स्कूल में छुट्टी रविवार को नहीं बल्कि शुक्रवार को (जुम्मे के दिन) होती है. बीते गुरुवार को किसी ने इसके बारे में संबंधित अधिकारियों से शिकायत की, तब जाकर यह मामला सामने आया. एजुकेशन डिपार्टमेंट के द्वारा की गई जांच में 4 और स्कूलों में बिल्कुल इसी तरह की व्यवस्था चलाने की बात सामने आई है. उन सभी स्कूलों का नाम बदलकर भी इस्लामिया स्कूल कर दिया गया. इनमें से जिले के रामपुर कारखाना ब्लाक के तीन स्कूल और देसही देवरिया ब्लॉक का एक स्कूल शामिल है.

देवरिया जिले के सलेमपुर में स्थित प्राथमिक विद्यालय नवलपुर का नाम बदलकर इस्लामिया प्राथमिक स्कूल कर दिया गया. वही मिली जानकारी के अनुसार करीब बीते 10 साल से स्कूल में रविवार की जगह शुक्रवार को जुम्मे के दिन छुट्टी दी जा रही है. इस स्कूल में रविवार को क्लास चलती है.

शिकायत मिलने के बाद शिक्षा विभाग के अधिकारी तुरंत मौके पर पहुंचे और उन्होंने शुक्रवार को स्कूल को बंद पाया. इसके बाद अधिकारियों ने वहीं से तुरंत स्कूल के प्रिंसिपल खुर्शीद अहमद को डॉक्यूमेंट लेकर ऑफिस में बुलाया. अधिकारियों ने जब स्कूल के रजिस्टर को देखा तो वो उर्दू में लिखे हुए थे जबकि सरकारी प्राथमिक स्कूलों में केवल हिंदी और अंग्रेजी भाषा का ही उपयोग हो सकता है.

Loading...

प्रिंसिपल खुर्शीद उम्मीद का यह है कहना

प्राथमिक विद्यालय नवलपुर के प्रिंसिपल खुर्शीद अहमद ने कहा कि उन्होंने साल 2018 में इस स्कूल को ज्वाइन किया था उससे पहले ही रविवार की जगह शुक्रवार को छुट्टी की यह व्यवस्था चलती हुई आ रही थी और इस व्यवस्था को मैंने भी ऐसे ही चलने दिया. प्रिंसिपल खुर्शीद अहमद ने बताया कि स्कूल में आने वाले करीब 95% बच्चे मुस्लिम हैं. इसके अलावा इस स्कूल में मौजूद 5 टीचर भी मुस्लिम ही हैं. इसी वजह से इस बात को लेकर किसी ने भी कोई आपत्ति दर्ज नहीं की.

सरकार लेगी दोषियों के खिलाफ कड़ा एक्शन

वही इस सब को लेकर बीएसए सुजीत कुमार देशपांडे ने कहा कि नवलपुर के स्कूल का यह मामला सामने आ जाने के बाद, अब ऐसे विद्यालयों की जांच कराई जा रही है जहां पर विद्यालय को इस्लामिया स्कूल बनाकर चलाया जा रहा है. साथ ही स्कूल की प्रिंसिपल से भी इस पूरे मामले में जवाब मांगा गया है आखिर यह व्यवस्था स्कूल में है क्यों और कब से है. इसकी भी जांच कराई जाएगी और दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.