Loading...

इस राज्य में चूहे मारने पर आपको मिलेगा पैसा, बेरोजगारों को मिल रहा है मौका

0 30

महानगर मुंबई इन दिनों लगातार हो रही बारिश की वजह से वॉटरलॉगिंग की समस्या से जूझ रही है. लेकिन वही मुंबई महानगरपालिका यानी कि बीएमसी के सामने केवल भारी बारिश ही समस्या नहीं है. बल्कि इसके अलावा और भी कई समस्याएं है. उन सभी समस्याओं में से एक ऐसी भी चुनौती है जिसके लिए बीएमसी को अपने कर्मचारियों के अलावा बेरोजगार लोगों की भी मदद लेनी पड़ रही है. दरअसल बारिश के बाद जो पानी इकट्ठा होता है उसमें से निकलने वाले चूहे अब बीएमसी की राडार पर आ चुके हैं. आपको बता दें कि यह चूहे हर साल मानसून मैं लेप्टोस्पायरोसिस नाम का एक संक्रमण फैला देते हैं. चूहों से फैलने वाले इस संक्रमण को आम भाषा में दिमागी बुखार कहा जाता है. इन चूहों से छुटकारा पाने के लिए अब बीएमसी ने अपना एक प्लान बनाकर तैयार कर लिया है.

चूहों से छुटकारा पाने के लिए बीएमसी ने यह प्लान बनाया है कि वह रात में चूहों को मारने का मौका अब बेरोजगारों को देने वाली है. न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान मुंबई नगरपालिका के पशु संक्रमण निरोध अधिकारी आर ए नरिनगरेकर ने कहा कि बीते 6 महीनों में बीएमसी ने 2 लाख 27 हजार चूहों को मार दिया है. चूहों की लगातार बढ़ती तादाद और संक्रामक बीमारी फैलने के खतरे को देखते हुए ही हमने चूहों को मारने के लिए अब रात में चूहा मार अभियान शुरू करने का निर्णय किया है.

वही अधिकारी ने आगे बताया कि हम चूहों को मारने के इस काम के जरिए बेरोजगार लोगों को रोजगार देने का एक मौका दे रहें हैं. पानी इकट्ठा हो जाने की वजह से चूहों से लेप्टोस्पायरोसिस नामक बीमारी फैलने का खतरा बढ़ गया है. ऐसे में इन चीजों को खात्मा होना सबसे ज्यादा जरूरी है और इसी से निपटने के लिए हमें अपने काम की गति को और भी ज्यादा बढ़ाना होगा.

Loading...

बीएमसी के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार एक चूहे को मारने पर 18 रुपए मिलेंगे. जी हां बीएमसी ने इस साल बारिश के मौसम में चूहों को खत्म करने के लिए तीन बार विज्ञापन भी जारी किए हैं. इसीलिए इस बार चूहों को मारने के लिए 10 रुपए की जगह अब 18 रुपए दिए जाएंगे. दरअसल बीएमसी के पास चूहों को मारने के लिए मात्र 30 लोगों का ही स्टाफ है जोकि पर्याप्त नहीं है. मुंबई के 24 वार्डों में चूहों को जड़ से खत्म करने की जिम्मेदारी बीएमसी अब बेरोजगार युवकों को देने जा रही हैं. इस बीमारी से 2 साल पहले करीब 7 लोगों की मौत हो गई थी. इसी के बाद से बीएमसी के स्वास्थ्य विभाग ने चूहों को जड़ से खत्म करने का अभियान शुरू कर दिया.

महानगर मुंबई और ठाणे में बारिश लगातार हो रही है. जमकर हो रही बारिश की वजह से कुछ स्टेशन को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है. महाराष्ट्र के मुंबई, बसई नवी मुंबई, ठाणे, दादर, बांद्रा, सांताक्रूज, कांदिवली, बोरीवली और कोलाबा में जबरदस्त बारिश होने की वजह से काफी जलभराव हो गया है. वहीं मुंबई के दादर, माटुंगा, बांद्रा, सांताक्रूज, कांदिवली और बोरीवली समेत कई इलाकों में भारी बारिश की वजह से वॉटरलॉगिंग हो चुकी है. आपको बता दें कि पिछले हफ्ते कोलाबा में 170.6 मिलीमीटर और सांताक्रुज में 122 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.