Loading...

इसे कहते है किस्मत, एक ही झटके में 3000 हजार करोड़ का मालिक बन गया ये मजदूर

0 526

यह तो आपने सुना भी होगा और आप इस बात को मानते भी होंगे कि देने वाला जब भी देता है छप्पर फाड़ के देता है. बिल्कुल ऐसा ही कुछ ब्राजील की एक खदान में काम करने वाले मजदूर के साथ भी हुआ. उस मजदूर को खदान में खुदाई के दौरान एक ऐसा पत्थर मिला जो उसे पसंद आ गया. उसने उस पत्थर को दोस्तों की मदद से बाहर निकालकर अपने घर रख लिया. उस मजदूर ने यह बिल्कुल भी नहीं सोचा था कि जिसे वह पत्थर सोच कर अपने घर लाया था उस पत्थर की कीमत करीब 3000 करोड रुपए होगी. सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इस चीज की वजह से उस मजदूर की जान भी खतरे में पड़ जाती है. अपनी और उस पत्थर की हिफाजत के लिए मजदूर को सिक्योरिटी एजेंसी से मदद लेनी पड़ गई.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ब्राजील के रहने वाले एफजी नामक एक शख्स को खुदाई के दौरान पन्ने का बहुत बड़ा टुकड़ा मिल गया था. यह टुकड़ा चट्टान की शक्ल में नजर आ रहा था और उसमें हर तरफ से पन्ने लगे हुए थे. इस चट्टान का वजन करीब 360 किलोग्राम था और बाजार में इस चट्टान की कीमत करीब 319 मिलियन डॉलर यानी कि 3000 करोड रुपए बताई गई. अब इसके बाद क्या था जैसे ही मजदूर के हाथ अरबों रुपए के पत्थर मिलने की खबर सामने आ गई वैसे ही उस मजदूर के पीछे माफिया हाथ धोकर लग गए.

हजारों करोड़ की कीमत का यह बेशकीमती पत्थर नार्थ-ईस्ट ब्राज़ील में मौजूद बहिया के करनेबा माइन से निकला था. जी हां यह पूरा ही एरिया इन बेशकीमती जेम्स के लिए ही मशहूर है और इस मजदूर ने भी शायद यह बिल्कुल नहीं सोचा होगा कि इतना बड़ा खजाना उसके हाथ लग जाएगा.

Loading...

और देखा जाए तो आज तक जितने भी मजदूरों को खदान में पन्ने मिले उन सभी में यह सबसे बड़ा है और यह तो शायद आपको पता ही होगा कि ब्राजील में ड्रग माफिया और क्रिमिनल का बहुत ज्यादा बोल वाला है. ऐसे में इस शख्स को उस पत्थर के साथ-साथ अपनी भी जान का डर था कि कहीं कोई उसे मार ना दे, इस वजह से शख्स ने अपना नाम भी बदल लिया और उस पत्थर को जिस शख्स या फिर कंपनी ने खरीदा उस पहचान को भी गुप्त रखा गया. मिली जानकारी के अनुसार शख्स ने अपना नाम बदलकर एफजी रख लिया है. जिससे कि उसे लोग पहचान ना पाएं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.