Loading...

पाकिस्तान व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए फैला रहा कश्मीर में आतंक, एनआईए ने पकड़े 1000 नंबर

0 21

जम्मू-कश्मीर में साइबर आतंकवाद लगातार बढ़ता जा रहा है. इस साइबर आतंकवाद को रोकने को लेकर एनआईए को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए ने ऐसे 79 ऐसे व्हाट्सएप ग्रुप की पहचान कर ली है जो कि जम्मू कश्मीर में युवाओं को भड़काने और नफरत फैलाने का काम करते हैं. व्हाट्सएप के इन 79 ग्रुप से करीब 6,386 लोग जुड़े हुए हैं. इनमें से करीब 5,386 लोग कश्मीर घाटी में रहने वाले हैं, बाकी 1000 लोग पाकिस्तान और खाड़ी देशों के हैं. यह सभी व्हाट्सएप ग्रुप युवाओं को पत्थरबाजी करने के लिए इकट्ठा करने का काम करते हैं. कश्मीर में 2017 में हुए उपद्रव की जांच करने के दौरान राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को इस बात की जानकारी प्राप्त हुई.

पाकिस्तान और खाड़ी देशों के करीब 1000 नंबरों का उपयोग आतंकियों और ओवर ग्राउंड वर्कर्स के द्वारा किया जा रहा था. इन्हीं नंबरों से व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए युवाओं को कश्मीर में आतंकवाद फैलाने और पत्थरबाजी करने के लिए उकसाया जाता था.

अधिकारिक सूत्रों ने इस पूरे मामले को लेकर बताया कि करीब एनआईए की 6 महीने की लंबी जांच के बाद आखिरकार कश्मीर घाटी में साइबर आतंकवाद को तोड़ दिया गया है. यह साइबर आतंकवाद घाटी में पाकिस्तान और खाड़ी देशों से चलाया जाता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.