Loading...

इस नर्स ने 20 मरीजों को सुला दी मौत की नींद, कारण जानकर हैरान रह जाओगे

0 31

खबरों के मुताबिक जापान की एक नर्स अयुमो कोबुकी को अपनी शिफ्ट के दौरान 20 मरीजो को जहर देकर मारने के शक में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 31 वर्षीय इस नर्स पर आरोप है कि इसने 2016 में टोक्यो से 32 किमी दूर ओगुची हॉस्पिटल में अपने काम के समय मे भर्ती 20 मरीजों को एंटीसेप्टिक जहर का इंजेक्शन लगा कर मौत की नीद सुला दी। पुलिस के मुताबिक नर्स ने अपना गुनाह कुबूल कर लिया है।

इसलिए यह नर्स मारती थी मरीजो को

इस हॉस्पिटल के नियमों के अनुसार अगर किसी मरीज की मौत हो जाये तो उसकी सूचना उस शिफ्ट की नर्स को ही मरीज के परिजनों को देनी होती थी। कोबुकी इस बात से बेहद डरती थी। मौत की खबर सुनने में उसे बेहद डर लगता था। इसी कारण के चलते वो मरीजो को जहर का इंजेक्शन लगती थी ताकि आने वाली शिफ्ट में उनकी मृत्यु हो जाये और उनकी मौत की खबर कोबुकी को ना देनी पड़ी।

ऐसे खुला इस मामले का भेद

Loading...

सितम्बर 2016 में इसी हॉस्पिटल के एक 88 वर्षीय मरीज की मौत हो गयी। उस शिफ्ट में काम कर रही नर्स ने जब उसकी ड्रिप को चेक किया तो उसमें गुब्बारे बन रहे थे। जिससे साफ जाहिर हो रहा था कि इस मरीज के ड्रिप से छेड़छाड़ हुई है। फिर डॉक्टरों ने मृत व्यक्ति का ब्लड टेस्ट किया जिसमें काफी मात्रा में एंटीसेप्टिक सोलुशन पाया गया। इसी से पता चला कि मरीज को जहर देकर मारा गया था। पुलिस की जांच के बाद एक घटना का खुलासा हो सका।

इसके बाद एक दूसरे मरीज की इसी तरह मौत हो गयी। जांच में पाया गया कि इसे भी एंटीसेप्टिक सोलुशन देकर मारा गया है। इसके बाद 2 और मरीजो के शरीर मे यही के एंटीसेप्टिक पाया गया। इसके बाद नर्सों के कॉमन रूम की जांच में 10 ऐसे ड्रिप बैग मिले जिनमे एंटीसेप्टिक सोलुशन भरा हुआ था। जब सभी नर्सों के कपड़ो की जांच की गई तो कोबुकी के कपड़ो में इस एंटीसेप्टिक के अंस पाए गए।

पुलिस को इसकी वजह पर नही है विश्वास

कोबुकि ने पुलिस गिरफ्त में अपना गुनाह कुबूल करते हुए कहा कि उसने सिर्फ गंभीर और बुजुर्ग मरीजों को ही यह जहर दिया है। लेकिन पुलिस को अभी भी इस पर शक है। पुलिस इस कारण को मानने को तैयार नहीं है। उमके अनुसार इस पूरे मामले के पीछे कोई दूसरी बड़ी वजह हो सकती है।

कोबुकी थी बेहतरीन कर्मचारी

कोबुकी 2008 से नर्स की डिग्री लेकर कई हॉस्पिटल में काम कर चुकी है। मई 2015 में कोबुकि ने इस हॉस्पिटल में करना शुरू किया था। पूरे स्टाफ का।कहना है कि कोबुकी काफी शांत स्वभाव की नर्स थी। जून में कोबुकी ने यह अस्पताल छोड़ दिया था और अगले ही महीने जुलाई में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.