Loading...

मोदी सरकार अब आपको आपके घर आकर कराएगी 5 लाख रुपए का फायदा, जानें कैसे

0 46

केंद्र की मोदी सरकार जल्दी आपको घर बैठे ही 5 लाख रुपए का फायदा कराने वाली है. इस सब के लिए मोदी सरकार ने पूरी प्लानिंग कर ली है. दरअसल आपकी जानकारी के लिए बता दे कि आयुष्मान भारत स्कीम के लिए केंद्र की मोदी सरकार करीब 11 करोड़ फैमिली कार्ड छपेगी और साथ ही उन्हें हाथोहाथ लोगों के पास तक पहुंचाएगी. इसके साथ ही सरकार गांव में आयुष्मान पखवाड़े का आयोजन भी करेगी. जहां सरकार इन कार्ड्स की हैंड डिलीवरी करेगी. यानी कि कहने का मतलब यह है कि हर घर तक कार्ड को पहुंचाने की जिम्मेदारी मोदी सरकार खुद ही निभाने वाली है. इसके लिए सरकार दिल्ली में 24X7 कॉल सेंटर भी बनाया जाएगा. जहां पर इस मेडिकल इंश्योरेंस स्कीम से जुड़ी हुई शिकायतों को तुरंत सुना जाएगा और साथी शिकायतों का निवारण किया जाएगा. इस बात की जानकारी ‛आयुष्मान भारत नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन मिशन’ (AB-NHPM) ने दी है.

अगले महीने तक पूरी हो जाएगी योजना

AB-NHPM सीईओ इंद्र भूषण ने बताया कि भारत सरकार आयुष्मान भारत स्कीम से जुड़ी हुई सभी तैयारियों को 15 अगस्त से पहले पूरा कर लेना चाहती है. हालांकि आपको यह भी बता दें कि अभी तक इसकी लांच डेट तय नहीं हो पाई है. फैमिली कार्ड पर इस स्कीम के पात्र सदस्यों के नाम छपे होंगे. कार्ड के साथ हर एक व्यक्ति के नाम का एक लेटर भी दिया जाएगा. उस लेटर में व्यक्ति को आयुष्मान भारत स्कीम की विशेषताओं के बारे में वर्णन से बताया जाएगा.

काफी आसान होगी प्रक्रिया

Loading...

आयुष्मान भारत नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम के मुताबिक सरकार ने इस स्कीम के लिए ग्रामीण इलाकों में 80 परसेंट और शहरी क्षेत्रों में 60 पर्सेंट लाभार्थियों का चयन किया है. वही यह भी बताया गया कि फैमिली कार्ड लाभार्थियों की पहचान प्रक्रिया को आसान बनाने का ही एक जरिया है. हालांकि आपको यह भी बता दें कि इसके लिए आपको अन्य डॉक्यूमेंट की भी आवश्यकता होगी.

जाने क्या है पूरा प्रोसेस

जैसे ही नेशनल हेल्थ एजेंसी से लाभार्थियों की सूचना मिलेगी वैसे ही सर्विस प्रोवाइडर लेटर्स की प्रिंटिंग शुरू करेंगे. प्रिंटिंग के बाद एरिया कोड के अनुसार सभी लेटेस्ट डिस्ट्रिक्ट हेड क्वार्टर भेज दिए जाएंगे. इसके बाद इन लेटर को ग्राम पंचायत को भेजा जाएगा. इसके बाद सरकार के आयुष्मान पखवाड़ा कार्यक्रम में हेल्थ वर्कर इन लेटर्स को खुद लाभार्थियों के परिवार को देंगे.

2 साल में पूरा हो जाएगा लक्ष्य

आयुष्मान स्कीम के बिड डॉक्यूमेंट के अनुसार रोजाना करीब 5 लाख लेटर जारी करने की रफ्तार से 2 साल में 10 करोड़ 74 लाख इंफॉर्मेशन लेटर और फैमिली कार्ड छपेंगे और बटेंगे, यानी कि कहने का मतलब यह है कि इन सभी कार्ड्स की डिलीवरी में कम से कम 2 साल का समय लग जाएगा. वही आपको यह भी बता दे कि पात्र परिवारों तक अगर कार्ड नहीं पहुंचा तो उन्हें इस योजना से अयोग्य घोषित नहीं किया जाएगा. उन्हें इस सुविधा का पूरा लाभ प्राप्त होगा.

आयुष्मान स्कीम को लेकर लोगों के सवालों और शिकायतों को भी दूर करने के लिए केंद्र की मोदी सरकार दिल्ली में एक कॉल सेंटर भी बनाएगी. इसी कॉल सेंटर की मदद से अपने होमटाउन से दूर रहने वालों की मदद की जाएगी. इसके लिए एक टोल फ्री नंबर भी जारी किया जाएगा. आपको बता दें कि यह कॉल सेंटर ईमेल और ऑनलाइन चैट के जरिए जवाब देने में भी सक्षम होंगे. इन दोनों ही प्रोजेक्ट के लिए अगले महीने तक सर्विस प्रोवाइडर उसका चयन कर लिया जाएगा.

अगले महीने से शुरू हो जाएगी प्रक्रिया

सरकार फैमिली कार्ड्स और कॉल सेंटर का कॉन्ट्रैक्ट अगले महीने अगस्त से दे सकती है. वही सर्विस प्रोवाइडर हब एंड स्पोक मॉडल का इस्तेमाल कॉल सेंटर के लिए करेंगे. इसके साथ ही देश भर में कई जोनल कॉल सेंटर भी बनाए जाएंगे. उम्मीद यही की जा रही है कि मोदी सरकार की यह योजना आने वाले कुछ महीनों में रफ्तार पकड़ लेगी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.