Loading...

अम्बानी की बेटी ईशा अम्बानी की दौलत के आगे, बड़े-बड़े अमीरजादे भरते हैं पानी

0 32

देश के सबसे धनी व्यक्ति मुकेश अम्बानी अपने आलीशान और सबसे महंगे घर, बिजनेस और अपने आलीशान शौक की वजह से हमेशा चर्चा में रहते हैं। मुकेश अम्बानी रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक है। मुकेश अम्बानी के परिवार में उनकी पत्नी और तीन बच्चे आकाश अंबानी, अनंत अंबानी और बेटी ईशा अंबानी है। अंबानी परिवार पिता की तरह ही बेहद काबिल ओर मेहनती इंसान है। हाल ही में अंबानी परिवार की बेटी ईशा अंबानी का रिश्ता पिरामल ग्रुप के फाउंडर अजय पिरामल के बेटे आनंद पिरामल के साथ हुआ है।

आपको बता दें, अंबानी और पिरामल परिवार के रिश्ते हमेशा से ही मधुर रहे हैं। अजय पिरामल ओर मुकेश अंबानी काफी अच्छे दोस्त हैं। अंबानी परिवार की बेटी की बात करें तो ईशा एक बेहद ही समझदार और एक काबिल बिजनेस वूमेन भी है। जिओ बिजनेस का अधिकतर काम ईशा ही सम्भालती है। मुकेश अम्बानी खुद यह बताते हैं कि जिओ का आईडिया भी ईशा ने ही दिया था।

ईशा अंबानी की शिक्षा की बात करें तो ईशा मुम्बई की धीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल से अपनी प्राथमिक शिक्षा पूरी की। इसके बाद सन् 2004 में येल विश्वविद्यालय से मनोविज्ञान ओर दक्षिण एशियाई अध्ययन में स्नातक की डिग्री हासिल की। इसके बाद ईशा अंबानी ने मैकिंसे एंड कम्पनी और अम्बानी प्रबन्धन परामर्शदाता फर्म में एक व्यापार विश्लेषक के रूप में का किया था।

Loading...

इसके बाद ईशा ने अपने पारिवारिक धंधे रिलायंस में कदम रखा। दिसम्बर 2015 में अपने दोनों भाइयों के साथ मिलकर जिओ 4जी सेवाओं में कार्यरत कर्मचारियों के संग़ठन का नेतृत्व किया। आपको बता दें, ईशा यंग जनरेशन में काफी आगे है और कई ओर वीमेन्स के लिए रोल मॉडल है।

ईशा अंबानी दुनिया की सबसे शक्तिशाली महिलाओ की लिस्ट में भी आती है। ईशा की कमाई लाखों में नहीं बल्कि खरबों में है। एक मैगजीन के कवर पेज पर भी ईशा को जगह मिली। ईशा ने अपनी उनिवेर्सिटीय की तरफ से फुटबाल में भी काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्हें फुटबॉल खेलना काफी पसंद है।

इसके अलावा ईशा पियानो बजाने में भी माहिर है। इनके मंगेतर आनंद की बात करें तो आनंद ने इकोनॉमिक्स में पेंसिल्वेनिया उनिवेर्सिटीय से ग्रेजुएशन किया है और बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में पोस्ट ग्रेजुएट भी हैं।

आनंद ने एक सराहनीय पहल करते हुए ग्रामीण अंचल में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुधारने के लिए पिरामल स्वास्थ्य योजना की शुरुआत की। यह संस्था एक दिन में करीबन 40 हजार गरीब मरीजों का इलाज करके राहत देती है। आनंद ने सबसे कम उम्र में इंडियन मर्चेंट चैम्बर की युवा विंग में प्रेजिडेंट रहकर सबसे युवा प्रेजिडेंट का खिताब अपने नाम किया।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.