Loading...

जीजा एक साल से कर रहा था साली के साथ रेप, गर्भवती हो जाने पर किया कुछ ऐसा

0 62

दिल्ली के शाहबाद डेयरी इलाके का एक मामला सामने आया है. यहां के दीप विहार पंसाली इलाके में रहने वाला एक युवक पिछले 1 साल से अपनी साली के साथ रेप कर रहा था. पीड़िता नाबालिग है. मिली जानकारी के अनुसार, इस दौरान नाबालिग किशोरी गर्भवती हो गई. जब इस बात का पता उसके जीजा को चल गया तो उसने पीड़िता का घर से बाहर आना-जाना बंद करा दिया. जब इस बात की भनक पड़ोसियों को लग गई तो उन्होंने इस बात की सूचना तुरंत पुलिस को दे दी. पुलिस की मदद से पड़ोसियों ने उस नाबालिग किशोरी को आरोपी जीजा के चुंगल से मुक्त कराया और साथ ही पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया. पीड़ित नाबालिग लड़की की उम्र 14 साल बताई जा रही है.

मिली जानकारी के अनुसार पीड़िता मूल रूप से पटना की रहने वाली है और वह दिल्ली में अपनी बहन और जीजा के साथ रह रही थी. बीते साल जनवरी में 13 वर्षीय पीड़िता की मां की मौत हो गई थी तभी से वह दिल्ली में अपनी बहन और जीजा के पास आकर रह रही थी. पीड़िता की बहन दूसरों के घरों में झाड़ू पोछा लगाने का काम करती है. वही पीड़िता का जीजा मजदूरी का काम करता है.

मिली जानकारी के अनुसार बात पिछले साल अप्रैल की बात है. जब एक दिन घर पर पीड़िता बिल्कुल अकेली थी और उसका जीजा शराब के नशे में धुत होकर घर आया और उसके साथ दुष्कर्म किया. पीड़िता ने जीजा के द्वारा की गई इस घिनौनी हरकत के बारे में अपनी बहन को भी बताया. बहन ने अपने पति को समझाने की पूरी कोशिश की लेकिन वह नहीं माना और उल्टा अपनी पत्नी और पीड़िता को धमकी देने लगा कि अगर मामला पुलिस तक पहुंचा तो वह किशोरी की हत्या कर देगा. इसके बाद वह नाबालिग के साथ लगातार रेप करता रहा. पीड़िता नवंबर महीने में गर्भवती हो गई इस बात की जानकारी आरोपी को हो जाने के बाद उसने उसका घर से बाहर निकलना बंद कर दिया.

Loading...

वही जब पड़ोसियों ने किशोरी की ऐसी हालत देखी तो उन्होंने गुरुवार को पुलिस को सूचना दे दी. सूचना मिलने के बाद पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल कराया. डॉक्टरों ने पुलिस को उसके 8 महीने की गर्भवती होने की सूचना दी है इसके बाद पुलिस ने आरोपी को दुष्कर्म एवं पोस्को की धाराओं में मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है. दूसरी तरफ पीड़िता का स्वास्थ्य स्तर काफी चिंताजनक है ऊपर से उसका गर्भवती हो जाना भी बेहद खतरनाक है. 8 माह का गर्भ हो जाने की वजह से पीड़ित नाबालिग का अब गर्भपात भी नहीं कराया जा सकता है, अब उस बच्चे का जो भी भविष्य होगा वह उसके परिवार और सीडब्ल्यूसी पर निर्भर करता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.