Loading...

यहां पर 80 लाख रुपए कमाने वाले को भी माना जाता है गरीब

0 19

वैसे हमारे देश में किसे गरीब माना जाए, यह बात हमेशा से ही विवादों का विषय रही है. चुनाव आयोग ने साल 2011 में सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया था कि शहर में जो व्यक्ति हर महीने 965 रुपए और गांव में 781 रुपए खर्च कर देता है. उस व्यक्ति को गरीब नहीं माना जाएगा यानी कि जो व्यक्ति रोजाना 32 रूपये या फिर उससे ज्यादा कमाता है तो वह व्यक्ति गरीब नहीं है. लेकिन इस दुनिया में एक ऐसी भी जगह मौजूद है जहां पर 80 लाख रुपए कमाने वाले व्यक्ति को गरीब की श्रेणी में ही रखा जाता है.

यह जगह कहीं और नहीं बल्कि अमेरिका का सैन फ्रांसिस्को है. जी हां बिल्कुल सही सुना आपने अमेरिका के आवास और शहरी विकास विभाग का तो यही कहना है. ब्रुकिंग इंस्टिट्यूट की वेबसाइट द हैमिल्टन प्रोजेक्ट पर दी गई जानकारी के अनुसार अगर चार लोगों के परिवार की टोटल आमदनी 117400 डॉलर यानी कि करीब 80 लाख रुपए से कम है तो वह परिवार गरीब परिवार की श्रेणी में आ जाएगा.

वहीं अमेरिका के आवासीय और शहरी विकास विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक 73300 डॉलर यानी कि 50 लाख रुपए से कम वेतन पाने वाले परिवारों को भी गरीब की श्रेणी में ही रखा जाएगा. यानी कि इस रिपोर्ट में यही कहा गया है कि सैन फ्रांसिस्को, सैन माटियो और उसके आसपास रहने वाले 4 सदस्यों के परिवार की टोटल कमाई 80 लाख रुपए है तो वह कम वेतन वाला परिवार यानी कि वह परिवार गरीब परिवार की श्रेणी में आ जाएगा.

Loading...

वहीं अगर अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को की तुलना बाकी शहरों के साथ की जाए तो उन शहरों के करीब दो-तिहाई परिवारों की कमाई सैन फ्रांसिस्को के 80 लाख रुपए कमाने वाले गरीब परिवार से भी कम है. जानकारी के लिए बता दें कि अमेरिका में 4 सदस्यों की परिवार की औसत कमाई 62 लाख रूपये है लेकिन वही इससे ज्यादा सदस्यों वाले परिवार की औसत कमाई 41 लाख रुपए ही है.

वहीं अगर अमेरिका में गरीबी रेखा की बात की जाए तो 4 लोगों के परिवार के लिए 25,100 डॉलर यानी कि 17 लाख रुपए है यानी कि 32.6 करोड़ की आबादी वाले अमेरिका में 4 करोड़ से भी ज्यादा लोग गरीबी रेखा से ही नीचे जीवन यापन कर रहे हैं. आपको बता दें कि अमेरिका के शहर सैन फ्रांसिस्को में गरीबी रेखा के इतने ज्यादा ऊपर होने की यह वजह है कि यह अमेरिका का सबसे ज्यादा विकसित और महंगा शहर है. इस शहर में कई बड़ी इंडस्ट्री होने और साल भर यहां सुहाना मौसम होने की वजह से यह रियल इस्टेट भी काफी ज्यादा महंगा है और यही सबसे बड़ी वजह है कि अमेरिका में सबसे ज्यादा सैलरी पाने वाले लोगों का यह अब मुख्य ठिकाना बन गया है.

वहीं अगर बीबीसी की रिपोर्ट की मानें तो सैन फ्रांसिस्को सबसे कम कमाई करने वालों में किसान और चाइल्ड केयर वर्कर्स शामिल हैं. यहां का किसान औसतन 13 लाख रुपए कमाता है तो वही बच्चों की देखरेख करने वालों की औसतन कमाई यहां पर 15 लाख रुपए तक होती है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.