Loading...

बिल्कुल अमीरों जैसे हैं इस भिखारी के ठाठ-बाट, जीता है कुछ ऐसी जिंदगी

0 26

आपको अगर कही पर भिखारी नजर आता है तो आप सीधा यही सोचते होंगे की यह बहुत गरीब है। पर आपका यह अंदाज गलत भी हो सकता है। कई भिखारी केवल शौक़ के तौर पर भीख मांगते है। जबकि असल लाइफ में कई भिखारी लखपति है। आज हम आपको ऐसे ही भिखारी के बारे में बताने जा रहे है।

इस व्यक्ति को देख कर आप अंदाज नहीं लगा सकते की यह लाखो का मालिक है। हर वर्ष लाखो की कमाई करने वाला यह व्यक्ति सुबह से लेकर शाम तक केवल भीख मांगता है। आपको बता दें कि इस व्यक्ति के साइड बिजनेस है। साथ ही साथ इसके तीन पत्नियां हैं।

झारखण्ड का है यह अमीर भिखारी…

इस भिखारी का नाम छोटू बारीक है। यह है झारखंड के चक्रधरपुर रेलवे स्टेशन पर भीख मांगकर अपनी रोजी-रोटी चलाता है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इस भिखारी को लोग लखपति भिखारी के नाम से भी जानते हैं। इसके साइड बिजनेस के रूप में एक बर्तनों का बड़ा बिजनेस चलता है।

Loading...

मार्केटिंग चेन कंपनी का भी मेंबर….

छोटू अपने पैरों से विकलांग है। लेकिन इसके बावजूद भी उसकी तीन पत्नियां है। इसका बर्तनों के अलावा एक और भी धंधा है। जिसमें यह मार्केटिंग चैन कंपनी का भी मेंबर है। यह कोट पैंट पहनकर कंपनी की मीटिंग में हिस्सा भी लेता है। छोटू की बर्तनों की दुकान सिमडेगा क्षेत्र में है। और दुकान उसकी पत्नियां चलाती है।

तीन लाख से ज्यादा कमाता है यह भिखारी….

छोटू कहता है कि वह 1 साल में करीब 3.50 लाख रुपए कमा लेता है। बर्तन की दुकान उसकी पत्नियां संभालती है। जिससे उसका सारा घर आसानी से चल जाता है। घर के खर्चे उसकी बर्तनों की दुकान से चलते हैं। छोटू के और भी आय के स्रोत है जिससे उसके इनकम जुड़ती रहती है।

छोटू बताता है कि वह 1 दिन में भीख मांगकर 1000 से 1200 रुपए कमा लेता है । इस प्रकार 1 महीने के 30000 से ज्यादा रुपए की आमदनी केवल भीख से हो जाती है। मार्केटिंग चैन कंपनी में उसके नीचे करीब 20 लोग काम करते हैं। जिससे छोटू को अच्छा मुनाफा होता है। इस प्रकार छोटू एक लखपति भिखारी है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.