Loading...

13 जुलाई अमावस्या को भूल कर भी ना करें यह 5 काम, वरना हो सकता है भारी नुकसान

0 35

इस बार 13 जुलाई को अमावस्या के साथ-साथ सूर्य ग्रहण भी ग्रहण भी है। हिंदू धर्म में पूर्णिमा और अमावस्या का एक विशेष महत्व होता है। अमावस्या की तिथि पितरों के लिए मानी जाती है। शास्त्रों में अमावस्या पर कुछ कार्यों को वर्जित किया गया है।

अमावस्या की रात को सुनसान जगह पर नहीं जाना चाहिए। क्योंकि अमावस्या के दिन भूत – प्रेत, अशुभ साय, निशाचर जीव जंतु और दैत्य बहुत ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं। इस कारण से नकारात्मक शक्तियां सक्रिय होती है। तो शमशान की तरफ तो रात को भूलकर भी नहीं जाना चाहिए।

अमावस्या के दिन आलस्य करना बहुत ही अशुभ माना गया है। इस दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करने के बाद सूर्य भगवान को जल अर्पण जरूर करना चाहिए।

Loading...

अमावस्या के दिन घर पर शांति का वातावरण बनाए रखना चाहिए। इस दिन लड़ाई झगड़े से बिलकुल दूर दूर रहना चाहिए। आप अगर अमावस्या के दिन परिवार के सदस्यों से अगर वाद – विवाद करते हैं। तो इस बात पर पितर नाराज हो जाते हैं। उनकी कृपा हम पर नहीं बनी रहती है।

अमावस्या के दिन पति पत्नी के बीच संबंध नहीं बनना चाहिए। गरुड़ पुराण के अनुसार अगर अमावस्या के दिन आप संबंध बनाते हैं तो अमावस्या के दिन बने संबंधों से जो ससंतान पैदा होती है। वह जीवन में कभी भी सुख नहीं देती है।

अमावस्या के दिन तामसिक चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। इस दिन मांस मदिरा से दूरी बनाकर रखनी चाहिए। जिससे कि पितृ नाराज़ नहीं होंगे और तामसिक शक्तियों का आप पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.