Loading...

एक ऑटो वाले की शादी हो रही थी

0 36

एक कवि की शादी हुई …

सुहागरात पर दूल्हे ने अपनी साहित्यक भाषा में अपनी दुल्हन से बातचीत की शुरुआत कुछ इस तरह से की –

“प्रिय, आज से तुम ही मेरी कविता हो, अभिलाषा हो, भावना हो, कामना हो..”

दुल्हन ने यह सुनकर दूल्हे से कहा-

“मेरे लिए भी आज से तुम ही मेरे मुकेश हो, मितेश हो, राजेश हो, रमेश हो..”

Loading...

*********
पप्पू ट्रेन की पटरी पर सो गया।

एक आदमी बोला ट्रेन आएगी तो मर जाएगा।

पप्पू:- अभी प्लेन ऊपर से गया कुछ नही हुआ।

तो ट्रेन क्या चीज है
**********
एक ऑटो वाले की शादी हो रही थी।

जब उसकी दुल्हन फेरों के वक्त उसके

पास बैठी तो वह बोला, थोड़ा पास होकर बैठो, अभी एक और बैठ सकती है।

फिर क्या था मण्डप मे ही दे चप्पल दे चप्पल
*************
पारले जी बिस्कुट बनाने वालों से यह निवेदन है,

बनाते वक्त उसमें थोड़ी सी अंबुजा सीमेंट मिला दो,

चाय में डूबते ही बिस्कुट कप में गिर के आत्महत्या कर लेती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.