Loading...

सैमसंग अब नोएडा में बनाएगी मोबाइल फोन, यही से करेगी विदेशी बाजारों को निर्यात

0 31

हर तरह के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बनाने वाली कोरियाई कंपनी सैमसंग अब नोएडा मैं बनाए गए अपने नए संयंत्र में बने मोबाइल फोनों को पश्चिम एशियाई अफ्रीकी और यूरोपीय बाजारों में निर्यात करेगी. सैमसंग ने मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत 5000 करोड रुपए का निवेश कर, इस नए संयंत्र को बनाया है. सैमसंग के इस नए संयंत्र का उद्घाटन आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करने वाले हैं. इस मौके पर उनके साथ दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून-जे-इन भी मौजूद रहेंगे.

वही इस सब को लेकर सैमसंग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नोएडा में बने नए संयंत्र में फिलहाल कंपनी केवल मोबाइल फोन के निर्माण पर ही ज्यादा ध्यान देगी और यही सैमसंग की निर्यात केंद्रित इकाई होगी. मौजूदा समय में कंपनी भारत में हर महीने करीब 50 लाख मोबाइल फोन बनाती है, जोकि घरेलू बाजार में ही बेचे जाते हैं. इसके साथ ही कंपनी दक्षिण एशियाई देशों में भी उनका निर्यात करती है, लेकिन वही बनाए गए नए संयंत्र की क्षमता अब दुगनी होगी. इस नए संयंत्र में बने मोबाइल फोन पश्चिम एशियाई देशों के साथ-साथ अफ्रीकी और यूरोपीय देशों में भी भेजे जाएंगे. इसके साथ ही कंपनी अपने नए संयंत्र में प्रिंटेड सर्किट बोर्ड (पीसीबी) भी बनाएगी. इसके साथ ही कंपनी की अत्याधुनिक टेलीविजन बनाने की भी योजना है.

सैमसंग भारतीय बाजार पर अपनी पकड़ बनाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है.

Loading...

भारतीय बाजार के ऊपर अपनी पकड़ को बनाए रखने के लिए सैमसंग हर संभव उपाय अपना रही है. इसी रणनीति के तहत सैमसंग ने नोएडा में अपने नए संयंत्र का निर्माण किया है. वही जब इस नए संयंत्र को बनाया जा रहा था तो उस दौरान बताया गया था कि इस नए संयंत्र की सालाना उत्पादन क्षमता 12 करोड़ मोबाइल फोन होगी. इसके जरिए सैमसंग भारतीय मोबाइल फोन बाजार में एक बार फिर अपनी मजबूत स्थिति दर्ज कर सकेगी. यह तो शायद आपको पता ही होगा कि बीते कुछ समय में चीन की कुछ कंपनियों ने भारतीय मोबाइल बाजार में अपनी हिस्सेदारी बड़ी तेजी के साथ बढ़ाई है. स्मार्टफोन बनाने वाली चाइनीज कंपनी श्याओमी को तो बाकायदा घोषित कर दिया है कि वह भारतीय मोबाइल बाजार में मोबाइल फोन बेचने वाली नंबर वन कंपनी बन गई है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.