Loading...

घर में सगा भाई बनकर रहने वाला युवक ही युवती को लेकर हुआ रफूचक्कर

0 22

मोगा जिले के एक गांव का मामला सामने आया है. जहां पर एक 19 वर्षीय युवती को उसके ही घर में सगा भाई बनकर रहने वाला युवक बहला-फुसलाकर अपने साथ लेकर रफूचक्कर हो गया. वही जब लड़की के परिजनों ने उसे ढूंढ निकाला तो पीड़िता ने दुष्कर्म के बारे में अपने परिजनों को बताया, जहां पर लड़की के परिजनों ने उसे सिविल अस्पताल मोगा में भर्ती करा दिया. जानकारी मिल जाने पर महिला सहायक थानेदार राज कौर अन्य पुलिस कर्मचारी के साथ वहां पहुंच गई. पुलिस ने पीड़ित व्यक्ति से पूछताछ करने के बाद आरोपी युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.

मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित युवती का भाई करीब 12 साल पहले अपने घर से गायब हो गया था. जिसको लेकर लड़की के परिजनों ने उसके भाई की काफी तलाश भी की थी और आखिर में आकर लड़की के परिजनों से झंडेयाना का एक तांत्रिक बाबा मुकुंद सिंह ने कहा कि वह उनकी बेटे को जरूर वापस ला देगा. जिसके बदले में उस तांत्रिक बाबा ने परिजनों से 50 हजार रुपये भी लिए. उस तांत्रिक ने गग्गू नाम के एक युवक को जो कि प्यारेयाना गांव का रहने वाला था. उसे उनके घर पर यह कहकर छोड़ा की यही तुम्हारा बेटा है जग्गू है. गग्गू 6 महीने तक उनके घर पर सगा बेटा बनकर रहा और आखिर में उनकी ही लड़की को 2 जून को बहला-फुसलाकर अपने साथ लेकर रफूचक्कर हो गया.

वही जब लड़की के परिवार वालों ने उस लड़के के बारे में जानकारी प्राप्त की तो उन्हें पता चला कि वह प्यारेयाना गांव का रहने वाला था. वह ढूंढते हुए जब वहां पहुंचे तो बस स्टैंड के पास लड़की के परिजनों को देखने के बाद गग्गू वहां से रफूचक्कर हो गया. लड़की अपने माता-पिता के साथ वापस आ गई जिसे वह अपने साथ ले आए और लड़की ने अपने परिजनों को बताया कि उसके साथ बिना मर्जी के दुराचार किया गया.

वहीं इस पूरे मामले को लेकर जांच अधिकारी सहायक थानेदार राज कौर ने बताया कि पीड़ित युवती के द्वारा शिकायत किए जाने पर मुकुंद सिंह निवासी झंडेयाना तथा गग्गू निवासी गांव प्यारेयाना के खिलाफ धोखाधड़ी दुराचार तथा अन्य धाराओं के तहत थाना सिटी मोगा में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. फिलहाल पुलिस इन दोनों ही आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.