Loading...

बुराड़ी केस: नाबालिगों के दोस्त ने बताया, मैंने उन्हें रात में क्रिकेट खेलते हुए देखा

0 37

उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी में एक ही घर में एक ही परिवार की मृत पाए गए 11 लोगों में शामिल दो नाबालिग लड़कों के दोस्तों ने बताया कि उसने शनिवार की रात को उन दोनों को ही क्रिकेट खेलते हुए भी देखा था. उन दोनों के मित्र जतिन ने कहा कि 15-15 साल के धीरू भाटिया और जतिन भाटिया दोनों ही नौवीं कक्षा के छात्र थे. दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 सदस्य रहस्यमई परिस्थितियों में मृत पाए गए. वहीं पुलिस ने इस पूरे मामले में मृत पाए गए सदस्यों के हाथों से लिखी हुए नोट्स भी बरामद किए हैं. जिनमें यह कहा गया है कि मानव शरीर अस्थायी है और अपनी आंखे और मुंह बंद करके मोक्ष प्राप्त की जा सकती है.

मृत पाए गए 11 सदस्यों में से दो नाबालिग के दोस्तों ने बताया, मैंने उन दोनों को कल रात क्रिकेट खेलते हुए देखा था. इसके साथ उसने कहा कि भवनेश अंकल उन्हें देखकर बहुत खुश हो रहे थे. इस बात पर यकीन कर पाना बिल्कुल मुश्किल है अब वह हमारे बीच इस दुनिया में नहीं रहे. पुलिस इस पूरे मामले की धार्मिक तंत्र-मंत्र के एंगल से भी जांच करने में लगी हुई है. वहीं पुलिस को घटनास्थल से एक रजिस्टर भी बरामद हुआ है, रजिस्टर में लिखी हुई बातों के बाद यही कहा जा रहा है कि यह पूरी मर्डर मिस्ट्री धार्मिक तंत्र-मंत्र से जुड़ी हो सकती है. इतना ही नहीं उस रजिस्टर में कुछ ऐसी भी बात दर्ज है जो कि इस पूरे केस को और भी ज्यादा पेचीदा बना रही है.

लेकिन वहीं दूसरी तरफ मृतकों के एक रिश्तेदार ने इस पूरी घटना मैं साजिश की आशंका जताई है और कहा कि वह सभी लोग शिक्षित शिक्षित लोग थे, अंधविश्वासी बिल्कुल नहीं थे. इसी परिवार के एक और रिश्तेदार केतन नागपाल ने यह आरोप लगाया है कि उन सभी को मारा गया है, उन्होंने पुलिस के द्वारा बताई गई कहानी को पूरी तरह से खारिज किया की हो सकता है यह एक साथ खुदकुशी का पूरा मामला हो. इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि यह पूरा परिवार एक समृद्ध परिवार था. रिश्तेदारों ने यह भी दावा किया इन सभी की मौतों में कोई भी धार्मिक कोण बिल्कुल नहीं है.

Loading...

वहीं इस पूरे मामले को लेकर पुलिस के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि यह पता लगाने की भी जांच की जाएगी कि क्या यह परिवार इसी तंत्र-मंत्र में शामिल था या फिर यह सभी लोग किसी तांत्रिक के अनुयाई थे. पुलिस ने बताया कि घर के 10 सदस्यों की आंखे और मुंह कपड़े से बंधे हुए थे और उन सभी के सभी के शव फाँसी के फंदे पर झूल रहे थे. घर की 70 साल की एक महिला मृत फर्श पर मृत पाई गई थी, उस महिला की आंख और मुंह पर कोई भी पट्टी नहीं बंधी हुई थी. बच्चों के भी हाथ पांव पूरी तरह से बंधे हुए थे.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.