Loading...

मंदसौर रेप केस: पीड़िता के पिता ने कहा – 5 लाख नहीं चाहिए आरोपी की फांसी चाहिए

0 22

मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में 8 साल की मासूम बच्ची के साथ की गई हैवानियत का मामला अब राजनीतिक तूल पकड़ता जा रहा है. इस पूरे मामले को लेकर प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पीड़िता के पिता के खाते में 5 लाख रूपये जमा करा दिए हैं. प्रदेश सरकार उस बच्चे के स्वास्थ्य और पढ़ाई का पूरा ध्यान रखेगी. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है जल्द ही आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दी जाएगी.

राज्य मंत्री के द्वारा यह बयान दिया जाने के बाद पीड़िता के पिता ने न्यूज़ एजेंसी ANI से बातचीत की. बातचीत के दौरान कहा कि ‛मुझे कोई पैसा नहीं चाहिए मुझे अपनी बच्ची के लिए सिर्फ इंसाफ चाहिए, अकाउंट में बेशक लाखों ना आए लेकिन आरोपी को फांसी की सजा जरुर मिलनी चाहिए, ताकि आगे कभी कोई शख्स ऐसा करने के बारे में सोचे भी तो उसकी रूह कांप उठे.’

Loading...

इस मामले को लेकर शनिवार को राहुल गांधी ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर ट्वीट करते हुए दुख व्यक्त किया. राहुल ने ट्वीट करते हुए कहा कि ‛मंदसौर में 8 साल की मासूम बच्ची का अपहरण किया गया, उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया. यह बच्ची जीवन के लिए अब संघर्ष कर रही है. इस बच्ची के साथ हुई बर्बरता से व्यथित हूं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अपने बच्चों की सुरक्षा और गुनहगारों को त्वरित न्याय की जद में लाने के लिए हम सभी को एक राष्ट्र के तौर पर एक साथ इकट्ठा होना होगा. वहीं राहुल गांधी से पहले कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मंदसौर की इस घटना की भत्सर्ना करते हुए यह आरोप लगाए कि भारतीय जनता पार्टी की इस सरकार में मध्य प्रदेश अब महिला विरोधी अपराधों का गढ़ बन चुका है.

जाने क्या है पूरा मामला

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में मंगलवार को स्कूल से अचानक गायब हुई 7 साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई थी. उस पीड़ित मासूम बच्ची के शरीर पर कई जगह गंभीर चोटों के निशान पाए गए थे. उस मासूम बच्ची की ऐसी हालत थी कि जिसे देख डॉक्टर भी कांप उठे. उस मासूम के चेहरे पर कई गहरे कट के निशान लगे हुए थे. जिसके बाद उस छात्रा को मंदसौर से इलाज के लिए तुरंत इंदौर रेफर कर दिया गया था. इंदौर में हुई जांच में बच्ची के साथ यौन हिंसा की पुष्टि हो गई. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि पुलिस को करीब 12:00 बजे वह बच्ची मंदसौर बस स्टैंड के पीछे लक्ष्मण दरवाजे के पास झाड़ियों में नाले के करीब बेहोश हालत में मिली थी. बच्ची की ऐसी हालत देख पुलिस तुरंत ही उसे जिला अस्पताल लेकर पहुंच गई. जहां बच्ची की गंभीर हालत देखते हुए डॉक्टरों ने तुरंत ही उसे इंदौर के जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया था.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.