Loading...

पत्नी ने अपनी हवस की आग को मिटाने के लिए उठाया ये खौफनाक कदम

0 81

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर का एक मामला सामने आया है। यहां पर करीब एक हफ्ते पहले हुई एक युवक की हत्या में सनसनीखेज खुलासा हुआ। पुलिस ने उस युवक की हत्या के आरोप में उसकी पत्नी सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। अवैध संबंधों का विरोध करना उस युवक को भारी पड़ गया। युवक की पत्नी ने उसके अवैध संबंधों का विरोध करने पर अपने प्रेमी के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि युवक की पत्नी ने अपनी हवस की आग को बुझाने के लिए इस काम को अंजाम दिया। पुलिस ने अपनी जिस्मानी भूख मिटाने के लिए अपने पति को मौत के घाट उतारने वाली पत्नी और उसके प्रेमी सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

20 मई 2018 की बात है जब पुलिस को थाना पुवायां के गंगसरा सड़क किनारे एक युवक की लाश बरामद हुई थी। उस मृतक युवक की लाश की पहचान उसी इलाके के लक्ष्मीपुर के रहने वाले राकेश के रूप में हुई। पुलिस इस पूरे मामले को पहले तो बिल्कुल एक सामान्य मामला मानती रही। लेकिन वही पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उस युवक की मौत गला दबाकर की गई थी इस बात का जिक्र किया गया तो इसके बाद पुलिस ने अपनी जांच को शुरू कर दिया। पुलिस को अपनी जांच के दौरान मृतक युवक की पत्नी के अवैध संबंधों के बारे में पता चला। इसी के आधार पर पुलिस ने सर्विलान्स की मदद के द्वारा पूरी घटना का खुलासा कर दिया।

इस पूरे मामले को लेकर पुलिस ने बताया कि मृतक युवक की पत्नी किरण के उसी के गांव में रहने वाले बुधपाल से नाजायज संबंध थे। जब पत्नी के नाजायज संबंधों के बारे में पति को पता चल गया तो उसने अपनी पत्नी किरण की पिटाई कर दी। वही जब मृतक युवक अपनी पत्नी के अवैध संबंधों के बीच में दखल देने लगा तो महिला के आशिक बुधपाल और उसके दोस्त कल्लू ने राकेश को जमकर शराब पिलाई और इसके बाद राकेश की पत्नी और उसके आशिक बुधपाल ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी।

Loading...

राकेश को मौत के घाट उतारने के बाद तीनों उसकी लाश को मोटरसाइकिल पर रखकर ले गए और सड़क किनारे फेंक दिया। पुलिस ने इस पूरे मामले में मृतक युवक की पत्नी किरण और उसके आशिक बुधपाल और उसके दोस्त कल्लू को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। वहीं पुलिस अधीक्षक एस चिनप्पा ने इस पूरे मामले का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को 10 हजार रुपये इनाम भी दिया है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.