Loading...

विदेशी लड़कियों से जबरदस्ती यहां कराई जाती है जिस्मफरोशी, पुलिस रेड से पहले कर देते हैं गायब

0 386

आपको बता दें कि आगरा के प्रमुख बाजार में से एक कश्मीरी बाजार की खास गली में देह व्यापार खूब फल-फूल रहा है। यहां पर कई बार लड़कियों को पकड़ा जा चुका है। लेकिन इस सबके बाद भी पुलिस की कोई रोक-टोक नहीं है। ऐसा बिल्कुल नहीं है कि पुलिस को इस बात की कोई जानकारी नहीं है। पुलिस सब कुछ जानते हुए भी अनजान बनी हुई है। दिल्ली की एक संस्था रेस्क्यू फाउंडेशन अपने स्तर से देह व्यापार का पता करने के बाद अधिकारियों को इसके बारे में बता चुकी है और साथ ही कई लड़कियों को जिस्मफरोशी के इस दलदल से बाहर निकाला गया है।

जब यहां पुलिस छापामारी करने के लिए आती है तो उससे बचने के लिए कोठा संचालकों ने एक नया तरीका निकाल लिया है। दरअसल कोठा के गेट पर बाहर से ताला लगा रहता है और अंदर लड़कियां मौजूद होती है। पुलिस अगर छापा मारने आ भी जाए तो फिर बाहर से ही लौट जाती है। अगर ताला तोड़कर छापेमारी की जाए तो उसमें काफी देर हो जाती है और इतनी देर में ही उन लड़कियों को वहां से दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया जाता है। इनको कोठा के अंदर ही तहखाने बने हुए होते हैं। जिनके अंदर लड़कियों को छुपा दिया जाता है।

दलाल पूरे क्षेत्र में सक्रिय रहते हैं और उनका काम ग्राहकों को लाना और कोठा संचालकों के मुखबिर की तरह काम को करना। पुलिस जब छापेमारी करने के लिए आती है तो पुलिस की छापेमारी की जानकारी पहले ही कोठा संचालक को मिल जाती है। और जब तक पुलिस छापा मारने के लिए उस जगह पर पहुंचती है। तब तक वहां कुछ भी नहीं होता है। वहीं कई बार दिल्ली की संस्था रेस्क्यू फाउंडेशन कश्मीरी बाजार के कोठों पर लड़कियों की कैद होने की शिकायत बड़े अधिकारियों से भी कर चुकी है और कई बार छापेमारी भी करवा चुकी है।

Loading...

रेस्क्यू फाउंडेशन संस्था के पदाधिकारी पहले सूचना की अच्छी तरह से पुष्टि कर लेते हैं और फिर इसकी सूचना पुलिस को देते हैं। और फिर फिर छापेमारी कराते हैं। कई बार पुलिस की छापेमारी के दौरान नाबालिग लड़कियों भी जिस्मफरोशी के इस दलदल में फसी हुई मिलती हैं। कश्मीरी बाजार के कोठों पर पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र के साथ-साथ नेपाल तक की लड़कियों को लाकर बेचा जाता है। वहीं से प्राप्त जानकारी के अनुसार नेपाल में भी दलाल सक्रिय हैं जो लड़कियों को शादी के झूठे झांसे में फंसा लेते हैं तो कभी अच्छी नौकरी दिलाने के झांसे में फंसाकर भारत लेकर आ जाते हैं।

वही जब वह लड़कियां दिल्ली आ जाती है तो उनका फिर सौदा कर दिया जाता है। Dalaal उन्हें कोठे पर बेचकर वहां से चलते बनते हैं। इसके बाद उन लड़कियों से कोठे पर जबरदस्ती जिस्मफरोशी का धंधा कराया जाता है। इसके साथ ही आपको यह भी बता दें कि जिले में मानव तस्करी निरोधक शाखा की बनी हुई है। और इसमें प्रभारी से लेकर महिला पुलिसकर्मी तैनात हैं। लेकिन मानव तस्करी शाखा में मानव तस्करी का कोई भी मामला नहीं पकड़ा है और वहीं जब पुलिस छापेमारी करने के लिए जाती है तो शाखा के कर्मचारियों को भी साथ लेकर जाती है। शाखा की तरफ से कभी कोई इस तरह का अभियान नहीं चलाया जाता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.