Loading...

इतने से रुपए खर्च करने के बाद आपकी बाइक देगी 1 लीटर में 153 किमी का माइलेज

0 25

वहीं अगर मौजूदा समय की बात की जाए चाहे वह कोई नौकरी करने वाला इंसान हो या व्यापार करने वाला हो हर किसी को ऐसी बाइक से ज्यादा पसंद आती हैं। जोकि माइलेज के मामले में सबसे आगे हो। वही देखा जाए तो ऑटोमोबाइल बाजार में ज्यादा से ज्यादा 60 से 70 किलोमीटर प्रति लीटर की माइलेज देने वाली बाइक मौजूद है और कंपनी भी उतना ही दावा करती हैं। लेकिन फिर भी वह बाइक्स उम्मीदों पर उतना खरा नहीं उतर पाती है जितने की उम्मीद होती है।

ऐसे में अगर आप भी कुछ ऐसा ही सोच रहे हैं तो आपको निराश होने की बिल्कुल आवश्यकता नहीं है। अगर आपसे कहा जाए कि एक बाइक 1 लीटर में 150 किलोमीटर तक का माइलेज दे सकती है। तो शायद आपको इतनी आसानी से यकीन नहीं होगा। लेकिन यह बात बिल्कुल सच है। एक शख्स ने एक ऐसी बाइक बनाई है। जो कि 1 लीटर में आम बाइक्स के मुकाबले दोगुना माइलेज दे रही है।

दरअसल आपकी जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले के गुदड़ी गांव के रहने वाले विवेक कुमार पटेल ने एक ऐसी बाइक बनाई है। जो कि 1 लीटर पेट्रोल में 153 किलोमीटर का माइलेज देती है। वही जब विवेक के द्वारा बनाई गई इस बाइक के बारे में सरकार को जानकारी हुई। तो इस बाइक को बनाने वाले विवेक कुमार पटेल को उत्तर प्रदेश काउंसिल फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी और मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी इलाहाबाद की तरफ से सर्टिफिकेट भी दिया गया है।

Loading...

आप मात्र कुछ रुपए खर्च करके ही अपनी बाइक को 1 लीटर में 153 किलोमीटर का माइलेज देने वाली बाइक बना सकते हैं। विवेक कुमार ने अपनी इस बाइक को कई सालों की मेहनत के बाद जाकर तैयार किया है या फिर यूं कहें विवेक कुमार को उनकी कड़ी मेहनत का फल कई सालों के बाद जाकर मिला है। विवेक ने अपनी बाइक के इंजन में बस छोटा सा बदलाव किया है। और उसी बदलाव की वजह से बाइक का माइलेज इतना ज्यादा हो गया। विवेक के द्वारा यूज़ की गई उस तकनीक का उपयोग करके किसी भी बाइक के माइलेज को 30 से 35 किलोमीटर तक आसानी से बढ़ाया जा सकता है।

आपको बस अपनी बाइक के इंजन में कार्बोरेटर को बदल देना है। और विवेक कुमार पटेल के द्वारा बनाए गए कार्बोरेटर को लगा देना है। मात्र 500 रुपए खर्च करने के बाद आप इस तकनीकी को लगा सकते हैं। इसके साथ ही आपको यह भी बता दें कि इस तकनीक को लगाने के बाद आपके बाइक के पिकअप पर कोई असर नहीं पड़ने वाला। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि उत्तर प्रदेश काउंसिल फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी ने इस टेक्नोलॉजी का पेटेंट रजिस्ट्रेशन कराने के लिए आवेदन किया हुआ है। और इसके बाद इस टेक्नोलॉजी को बाइक्स में लगाना शुरु कर दिया जाएगा। जिसके बाद इस टेक्नोलॉजी का लाभ हर किसी को मिल पाएगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.