Loading...

इन लोगों के ऊपर हमेशा बनी रहती है बुरी शक्तियों की नज़र

0 19

बहुत से लोग इस बात को मानते हैं कि हमारे वातावरण में नकारात्मक और सकारात्मक दोनों ही तरह की शक्तियां रहती हैं। यह शक्तियां हर एक व्यक्ति के ऊपर अपना प्रभाव जरुर डाल देती हैं। व्यक्ति के कुंडली में भी कुछ ऐसे दोष मौजूद होते हैं। जिनके प्रभाव से बचना व्यक्ति के लिए बिल्कुल मुमकिन नहीं होता। अब बिल्कुल ऐसा ही दोषों में हैं। बुरी शक्तियों की नजर लगना। यह बुरी शक्तियां जिस किसी व्यक्ति के ऊपर अपनी नजर रखती हैं। वह व्यक्ति अपना मानसिक संतुलन खो देता है। ऐसी शक्तियों से बचने का एक ही उपाय है हनुमान उपासना। जहां पर हनुमान जी की पूजा होती है वहां पर बुरी शक्तियां अपना असर नहीं दिखा पाती। तो चलिए जानते हैं कुंडली के कुछ खास ऐसे योग के बारे में जो व्यक्तियों को सकारात्मक शक्ति से दूर और नकारात्मक शक्ति के पास ले जाते हैं।

व्यक्ति की कुंडली के प्रथम भाव में राहु-चंद्र होने से बुरी शक्तियों की नजर उस पर बनी रहती है।

अगर कुंडली में शनि सप्तम भाव में हो और चंद्र पाप ग्रह से क्लेशित हो तो ऐसे भी व्यक्ति हमेशा टेंशन से घिरा होता है।

वही आपको बता दें कि जब शनि और राहु लग्न का अशुभ योग बन जाता है तो उस समय बुरी शक्तियों का साया छा जाता है।

Loading...

वहीं अगर व्यक्ति की कुंडली के दसवें भाव का स्वामी ग्रह आठवें या ग्यारहवें भाव में हो और अन्य संभावित भावों के स्वामी पर अपनी दृष्टि बनाए बैठा हो। तो ऐसे में व्यक्ति के ऊपर बुरी शक्तियों का प्रभाव जरूर बन जाता है।

वही जो व्यक्ति जल्दी ही बुरी शक्तियों के बस में आ जाता है। उस व्यक्ति की कुंडली के पहले भाव में चंद्र और राहु का साथ होता है तो वहीं पांचवें और नौवें भाव में अशुभ ग्रह की नजर बनी रहती है।

अगर कुंडली के सातवें भाव में शनि, राहु, केतु या मंगल स्थित हो तो ऐसे में आप समझ जाएं कि नकारात्मक शक्तियों का वह प्रभाव कभी भी आपको सकारात्मक शक्ति के पास नहीं जाने देगा।

इसके साथ ही आपको यह भी बता दें कि जिस व्यक्ति की कुंडली में शनि-मंगल-राहु की युक्ति हो वह व्यक्ति खुश नहीं रह पाता।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.