Loading...

इस पिता ने अपनी 13 साल की मासूम बेटी को इस वजह से कर दिया दरिंदों के हवाले

0 40

एक ऐसा मामला सामने आया है जहां पर मात्र 20 हजार रुपए का कर्ज ना चुका पाने की वजह से एक पिता ने अपनी 13 साल की मासूम बेटी को बेच दिया। उस मासूम 13 साल की बच्ची को इस बात की जरा भी जानकारी नहीं थी कि उसके पिता ने उस का सौदा कर दिया है। वही इस मासूम बच्ची को खरीदने वाले का बेटा जब उसके साथ जबरदस्ती करने लगा, तो वह उसका लगातार विरोध करती रही और आखिरकार 2 साल के बाद ये पूरा मामला महिला कमांडो की जानकारी में आया।

दरअसल आपको बता दें कि यह पूरा मामला बालोद थाना क्षेत्र के एक गांव का है। वही जिस व्यक्ति ने इस 13 साल की मासूम बच्ची को खरीदा है। वह इस बच्ची का पड़ोसी ही है। 2 साल पहले जब इस मासूम बच्ची का पिता अपने ऊपर चढ़े हुए कर्ज को नहीं चुका पाया तो अपने उस कर्ज को चुकाने के लिए इस पिता ने अपनी मासूम बेटी को बेच दिया। इस पूरे मामले में जो बात हैरान करने वाली है वह यह है कि इस घर की किसी भी महिला ने इस बात का बिल्कुल भी विरोध नहीं किया, बल्कि घर की महिलाओं ने आदमी का ही साथ दिया। वही महिला कमांडो के द्वारा शिकायत दर्ज कराए जाने के बाद पुलिस ने उस बच्ची के पिता और उस बच्ची को खरीदने वाले और उसके बेटे को और साथ ही इन दोनों परिवार की करीब 3 महिलाओं को गिरफ्तार किया है।

इस पूरे मामले को लेकर पुलिस ने बताया कि यह मामला बीते 2 साल से चल रहा है। यहां पर 2 साल पहले 13 साल की नाबालिक लड़की को उसके पिता ने अपने रुपए की जरूरत को पूरा करने के लिए बेच दिया। दरअसल उस नाबालिग लड़की के पिता ने अपने पड़ोसी से 20 हजार रुपए उधार लिए। वही जब रुपए वापस करने की बारी आई तो उसके बदले उस नाबालिग लड़की के पिता ने आरोपी सुकपाल नेताम को अपनी बेटी बेच दी।

Loading...

आरोपी सुकपाल ने पैसे के बदले उसकी लड़की को अपने बेटे सीताराम की पत्नी बनाने के लिए कहा और उसे अपने रख-रखाव के लिए अपने घर पर रख लिया। बीते 2 सालों से वह नाबालिग लड़की अपने पिता के घर से ही आना-जाना कर रही थी। इस पूरे मामले को लेकर एसीपी जेआर ठाकुर ने कहा कि हमें नाबालिग लड़की के पिता द्वारा अपनी बेटी को 20 हजार रुपए में बेचे जाने की जानकारी मिली थी। जिसकी हमने जांच की और मामला बिल्कुल सही पाया। हमने इस मामले में दोषी पाए गए सभी दोषियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है।

वही जब उस नाबालिग लड़की को अपने बेचे जाने की जानकारी हुई तो उसने हिम्मत करके इस सबकी जानकारी अब से 10 दिन पहले महिला कमांडो को दी। महिला कमांडो ने इस सबकी जानकारी तुरंत ही पुलिस को दे दी। पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लिया और इसकी जांच की जांच में सामने आया उस नाबालिग लड़की के पिता ने मात्र 20 हजार रुपए में ही उसे बेच दिया और इस बात का खुलासा एसीपी जेआर ठाकुर ने मीडिया के सामने भी किया। वही इस पूरे मामले को लेकर पुलिस ने कहा कि जिले में यह ऐसी पहली घटना है। गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों के ऊपर धारा 370(क), 370(4), 376(2), 506 बी और 34 लगाकर हवालात के पीछे भेज दिया गया है।

दरअसल 15 दिनों पहले ही उस नाबालिग लड़की को लड़के के घर वाले स्थाई रूप से अपने घर पर ले गए। जहां पर उस लड़की को जबरदस्ती लड़के के कमरे में भेजा गया और इस दौरान आरोपी सीताराम उस नाबालिग लड़की का शोषण करता रहा। इतना ही नहीं इस घिनौने काम में उस लड़के के पिता के साथ उस घर में मौजूद तीन महिलाओं ने भी उसका पूरा साथ दिया। जब उस लड़की ने उन सभी का विरोध किया तो लड़के ने उस नाबालिग लड़की को बताया कि उसके ही पिता ने उसे 20 हजार रुपए में हमें बेच दिया है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.