Loading...

फिल्म “पद्मावत” की रिलीज को मनसे ने दिया समर्थन, कहा नहीं रुकेगी फिल्म की रिलीज

0 51

फिल्म “पद्मावत” को रिलीज होने में अब 1 दिन का ही समय बचा है। फिल्म “पद्मावत” 25 जनवरी को रिलीज हो रही है। वही फिल्म “पद्मावत” की रखी गई स्पेशल स्क्रीनिंग में पत्रकार और राजनीति से जुड़े हुए कई दिग्गजों ने इस फिल्म को पहले ही देख लिया है। स्पेशल स्क्रीनिंग में फिल्म को देखने के बाद इन दिग्गजों ने अपनी राय सोशल मीडिया साइट्स पर रखी।

वही फिल्म “पद्मावत” को लेकर देश में चल रहे विरोध की आग और तेज हो गई है। पर वही राज ठाकरे की  पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने बॉलीवुड की फिल्म “पद्मावत” को रिलीज करने का समर्थन किया है। फिल्म “पद्मावत” को लेकर कई राज्यों में राजपूत समाज कड़ा विरोध कर रहे हैं। वही मनसे के सुप्रीमो राज ठाकरे ने कहा कि प्रदर्शनकारियों को सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानना चाहिए। और उस फैसले का सम्मान भी करना चाहिए।


फिल्म “पद्मावत” को लेकर जहां पूरे देश में विरोध हो रहा है। वही सुप्रीम कोर्ट ने संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी फिल्म “पद्मावत” को रिलीज करने का रास्ता क्लियर कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी करणी सेना लगातार फिल्म “पद्मावत” की रिलीज का पुरजोर विरोध कर रही है। वही मनसे फिल्म इकाई की कार्यकारी अध्यक्ष शालिनी ठाकरे ने कहा कि हम फिल्म “पद्मावत” की रिलीज को मुंबई में किसी को भी रोकने नहीं देंगे। फिल्म “पद्मावत” मुंबई में रिलीज होगी।


वही मनसे फिल्म इकाई की कार्यकारी अध्यक्ष शालिनी ठाकरे ने आगे कहा कि अगर किसी ने भी मुंबई क्षेत्र में फ़िल्म “पद्मावत” की रिलीज को बाधित करने का प्रयास किया। तो उसको मनसे कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ेगा। वही मनसे नेता ने कहा कि फिल्म कोई ऐतिहासिक दस्तावेज नहीं है। और वही जब कोई फिल्म मेकर कोई फिल्म बनाता है। तो उसको कुछ आजादी लेनी पड़ती है। वही मनसे ने फिल्म “पद्मावत” की सामग्री को लेकर कोई भी आपत्ति नहीं जताई है। वही मनसे ने कहा कि हमें आपत्ति थी। तो सिर्फ पाकिस्तान के कलाकारों को बॉलीवुड में काम देने पर थी। ना की किसी फिल्म को लेकर।

वही मनसे फिल्म इकाई की कार्यकारी अध्यक्ष शालिनी ठाकरे ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए। कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश से पहले राज्य में फिल्म की रिलीज की अनुमति नहीं देने के, गुजरात सरकार के इस रुख से देश के बाकी अन्य राज्यों में कानून व्यवस्था पूरी तरह से खराब हो सकती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.