Loading...

​बढ़ी कच्चे तेल की कीमतें तो पेट्रोल पहुंचा 80 रुपए के करीब और डीजल 67 रुपये के पार

0 15

पेट्रोल और डीजल के दाम इस समय देश में काफी ऊंचाई पर जा पहुंचे हैं। दरअसल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी होने की वजह से पेट्रोल और डीजल की कीमतें भी अब आसमान को छूने लगी है। देश के कई हिस्सों में डीजल 67 रुपए के पार पहुंच गया है। तो पेट्रोल भी 80 रुपए के पास पहुंच गया है। फिल्म नगरी मुंबई में पेट्रोल का दाम सोमवार को 80 रुपए के करीब पहुंच गया। हैदराबाद में सोमवार को डीजल 67.08 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है। देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 71.06 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है। वहीं डीजल 61.74 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है।

पेट्रोल और डीजल की आसमान छूती कीमतों का कारण है। कच्चे तेल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी। देखा जाए तो काफी समय तक पेट्रोल और डीजल के दामों में कमी होने की कोई उम्मीद नहीं है। इस समय पेट्रोल की कीमत अक्टूबर के स्तर पर जा पहुंची हैं। वहीं केंद्र सरकार ने एक्सरसाइज ड्यूटी तब घटाई जब पेट्रोल 80 रुपए प्रति लीटर पहुंच गया था।


काफी समय से पेट्रोल और डीजल को भी जीएसटी के दायरे में लाने की बात चल रही है। वही सरकार ने भी इस बात के संकेत दे दिए हैं। कि पेट्रोल और डीजल को भी जीएसटी के दायरे में लाया जाएगा। अब सबकी निगाहें 18 जनवरी को होने वाली जीएसटी काउंसिल की बैठक पर टिकी हुई है। उम्मीद यही है कि जीएसटी काउंसिल इस बैठक में कोई अहम फैसला ले सकती है। अगर इस फैसले पर मोहर लग जाती है। तो पेट्रोल और डीजल की कीमत काफी कम हो सकती है।


अगर जीएसटी काउंसिल पेट्रोल और डीजल पर 28 फ़ीसदी जीएसटी लगाती है। तो पेट्रोल और डीजल आम आदमी को 50 रुपए से भी कम में मिल जाएगा। इसके अलावा लगातार बढ़ रही कच्चे तेल की कीमतों से भी काफी राहत मिलेगी। लगातार बढ़ रही पेट्रोल डीजल की कीमतों से परेशान आम आदमी को राहत पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने एक बार फिर सभी राज्यों से अपील करी है। कि वह अपने राज्य में वैट की दरों को कम कर दे।


इस समय कच्चे तेल की कीमत इंटरनेशनल मार्केट में आग उगल रही हैं। दरअसल आपको बता दें कि ब्रेंट क्रूड 66 डॉलर प्रति बैरल के भी पार है। और इस की वजह से देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं। वही इंटरनेशनल मार्केट में लगातार बढ़ रहे कच्चे तेल की कीमतों से अब रसोई गैस के दाम बढ़ने की संभावनाएं भी और ज्यादा बढ़ गई हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.