Loading...

​भारतीय सेना ने एलओसी पार करके मार गिराए 6 आतंकवादी

0 18

दुनिया को दिखाने के लिए पाकिस्तान जहां एक तरफ भारत के साथ रिश्ते सुधारने के लिए बल दे रहा है। वहीं पाकिस्तान दूसरी तरफ घुसपैठियों को भारतीय सीमा में भेज रहा है। पाकिस्तान एक तरफ तो नियंत्रण रेखा पर शांति बनाए रखने की अपील करता है। तो वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तानी रेंजर्स और पाक सेना के जवान आतंकियों के लिए एक ढाल का काम करते हैं। जब सेना प्रमुख बिपिन रावत सैनिकों के सामने भारतीय सेना के शौर्य, साहस और चुनौतियों का जिक्र कर रहे थे। तो उस समय भारतीय जवान जम्मू कश्मीर के कोटली सेक्टर में पाकिस्तान के सैनिकों और आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब देने में लगे हुए थे। वहीं भारतीय सेना ने उड़ी जैसे हमले की साजिश को नाकाम कर दिया। सेना के द्वारा करी गई इस कार्यवाही में जैश-ए-मोहम्मद के 6 आतंकवादी मारे गए हैं।

पाक सेना ने सोमवार को सुबह 10:00 बजे के आस-पास पुंछ के मेंढर सेक्टर में भारतीय सैन्य चौकी को और रिहायशी क्षेत्रों को निशाना बनाया। और गोलाबारी की। भारतीय सेना ने भी जवाब देते हुए जवाबी कार्रवाई शुरु कर दी। लेकिन पाक सेना ने गोलाबारी को बंद करने की बजाय गोलाबारी को और तेज कर दिया। वही इसके बाद जाबांज भारतीय सेना के जवानों ने मेंढर के साथ जंदोरोट सेक्टर में दाखिल हो कर। पाकिस्तानी सेना की अग्रिम चौकी व चौकी पर फोन की लाइन बिछा रहे पाक सैनिकों के जवानों पर हमला कर दिया। और इसके बाद भारतीय सेना के जवान सुरक्षित अपने क्षेत्र में आ गए। 


वहीं मिली खबर के अनुसार भारतीय सेना द्वारा की गई इस जवाबी कार्यवाही में पाकिस्तानी सेना के 6-7 जवान मारे गए हैं। मारे गए छह से सात जवानों में एक पाकिस्तानी सेना का मेजर रैंक का अधिकारी है। उसके बाद से ही पाक सेना भारी गोलाबारी कर रही है। तो वहीं भारतीय सेना के जाबांज सिपाही पाक सेना को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं। सेना के उच्च अधिकारी सीमा पर मौजूद रहकर। इस पूरी घटना और हालात पर अपनी नजर बनाए हुए हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.