Loading...

युवक ने पहले खुद किया लड़की के साथ दुष्कर्म, फिर अपने 5 दोस्तों को सौंपी दी गर्लफ्रेंड

0 8

एक लड़के ने किया इतना घिनौना काम की इंसानियत भी शर्मसार हो जाएगी। दरसल मामला यह है कि एक लड़के ने 21 साल की एक लड़की को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। उसके बाद एक दिन जब लड़की उसके साथ गयी। तो उस लड़के ने उस लड़की के साथ दुष्कर्म किया। और यही नहीं इसके बाद उस लड़के ने उस लड़की को अपने अन्य 5 दोस्तों को सौंप दिया। लड़की का सामूहिक दुष्कर्म करवाया। लड़कीे ने इस सारे वाक्य के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करा दी। पुलिस ने 6 लोगों पर मामला दर्ज किया है। और तीन युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

लड़की ने बताया की राजन सिंह पुत्र बलविंदर सिंह और उसकी फोन पर बातचीत होती थी। उसने यह भी बताया कि वह उसे लगभग सात-आठ महीने से फोन करता था। और 3 जून को राजन ने फोन करके उसे निक्को सरा अड्डे पर बुलाया। लड़की ने इस मुलाकात को सामान्य मुलाकात समझा और उससे मिलने चली गई।

जब लड़की उसके बताए हुए स्थान पर पहुंची। तो वहां पर बह मोटरसाइकिल लेकर पहले ही पहुंच चुका था। जब लड़की वहाँ पहुंची तो राजन उसे बैठा कर निक्को सार के रास्ते पर ले गया। गांव आने से पहले ही एक रास्ते में नई बनी कोठी थी। राजन ने अपनी मोटरसाइकिल उसको ठीक है सामने ही रोक दी। राजन ने उसको कोठी के अंदर चलने को कहा फिर राजन ने उस लड़की को अपने दोस्त जगरूप सिंह पुत्र अमरीक सिंह से मिलाया।

लड़की के मुताबिक लड़की ने कहा कि राजन ने उसे बताया कि इस घर में और कोई भी व्यक्ति मौजूद नहीं है। राजन उसके बाद उसे कमरे में ले गया और इसी दौरान राजन ने उस लड़की के साथ शारीरिक संबंध बनाए। लड़की ने जब इसका विरोध किया तो बह धमकियां देने लगा। और इसके बाद राजन ने उस लड़की से सारी रात वहीं रुकने को कहा।

Loading...

लड़की के मुताबिक वह डरी सहमी वही कोठी में बैठी रही। इसी बीच अचानक राजन के 5 दोस्त वहां आ गए। जगरूप सिंह पुत्र अमरीक सिंह, रूबल पुत्र बलजीत सिंह, वजीर सिंह पुत्र बलविंदर सिंह ,पम्मा पुत्र तरखान खान, गोपा उत्तर सुख और सभी वहां पहुंच गए। उसके बाद उन सबने उस लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। वही थाने के इंचार्ज अमनदीप कौर ने बताया कि पुलिस ने राजन जगरूप एवं रूबल को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी अन्य लड़कों की तलाश जारी है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.